गांधी जयंती पर छत्तीसगढ़ विधानसभा में गोडसे पर बवाल

रायपुर, महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार द्वारा यादगार बनाने के लिए प्रदेश भर में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया. बापू की जयंती को खास बनाने के लिए विधानसभा  का दो दिवसीय विशेष सत्र भी आयोजित किया जा रहा है. सत्र का पहला दिन महात्मा गांधी के लिए समर्पित रहा. सत्र के पहले दिन बुधवार को विधानसभा परिसर में ही ​भजन-कीर्तन के साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए.
छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र का पहला दिन वैसे तो पूरी तरह महात्मा गांधी के लिए समर्पित था, लेकिन सदन में कांग्रेस और बीजेपी  के सदस्यों ने इसे गांधी वर्सेस गोडसे का रूप देने की कोशिश भी की. आलम ये रहा कि सदन में ही जिंदाबाद और मुर्दाबाद के नारे भी लगे. गांधी जिंदाबाद के नारों से तो सदन में कोई आपत्ति नहीं हुई, लेकिन गोडसे मुर्दाबाद के नारे लगने के बाद सियासत गर्म हो गई. आरोप और प्रत्यारोपों का दौर भी शुरू हो गया.